बिजली बचाने के लिए वैध उपाय

रास्ता बिजली पर पैसे बचाने के लिए
बिजली पर पैसे की बचत

आप विभिन्न तरीकों से अपार्टमेंट में बिजली बचा सकते हैं. आज कोई भी ऐसा फ्लैट नहीं है जो कि बिजली के बल्ब हर कमरे में उपयोग नहीं करता है. क्या उन पर बचत कर पाना संभव है? बेशक, यह संभव है, और इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कि ऐसा करना आवश्यक है इसके लिए एक गणना करना होगी. ऐसा करने के लिए, एक आम झूमर में चार सामान्य शेड के बल्ब लगा कर इस बात की गणना करें कि प्रत्येक बल्ब कितनी उर्ज़ा का उपयोग करता है.

आमतौर पर झूमर में ८० से १०० वाट के बल्ब लगे होते हैं. और अगर प्लेफाउंड के साथ ४ झूमर भी लगे हुए हैं तो, हर एक घंटे झूमर ४०० वाट उर्ज़ा का खपत करते हैं. ये सही है न? बेशक, अगर झूमर पूरे दिन नहीं जलता है, तो इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं जाता है. लेकिन अगर हर शाम को झूमर को जलाया गया तो यह कई घंटों के लिए भी चल जाता है. इसलिए यह अतिआवश्यक है कि इस बात की गणना की जाये कि पूरे महीने में झूमर कितनी बिजली खाता है और तुरंत दुकान पर जाकर ऊर्जा बचत करने वाले प्रकाश बल्बों को खरीदा जाये.

बेशक, वे सामान्य बल्बों की तुलना में महंगे पड़ते हैं, लेकिन महंगे होने के साथ वे एक बहुत लंबे समय आपको प्रकाश भी प्रदान करते हैं. अगर आप ऊर्जा की बचत करने वाले प्रकाश बल्ब लगायें, तो आप प्रति माह अच्छी खासी बिजली बचा सकते हैं. लेकिन आप अगर सामान्य बल्ब या ऊर्जा की बचत करने वाले बल्ब की बजाय, एल.ई.डी बल्ब का प्रयोग करते हैं तो बिजली के खर्चे को और भी कम किया जा सकता है.

तुलनात्मक गणना से पता चलता है कि एक सामान्य बल्ब की कीमत ७० रूपए तक हो सकती है, और उर्ज़ा बचाने वाले बल्ब की कीमत ३०० से ४०० रूपए तक हो सकती है. वही अगर आप एल.ई.डी. प्रकाश बल्ब की कीमतों पर नज़र डालें तो उनकी कीमत आम तौर पर कई भारतीयों के लिए निषेधात्मक रूप से १००० रूपए प्रति एल.ई.डी. तक बल्ब पड़ जाती है (यह तब होता है जब आप १०० वॉट वाले सामान्य बल्ब की तुलना इसके बराबर डायोड वाले के साथ में करें). इनकी कीमतों में इस तरह का अंतर क्यों है? क्योंकि एलईडी बल्ब सामान्य बल्ब की तुलना में लगभग १० गुना कम बिजली की खपत करते हैं. और इनका जीवनकाल ४ साल तक का होता है, जिसे ध्यान में रखा जाना अतिआवश्यक है. लेकिन अगर सभी कमरों में इस तरह के लैंप लगा लिए जाएँ, तो आप लगभग एक तिहाई बिजली की बचत कर सकते हैं.

उचित प्रकाश व्यवस्था

सही ढंग से प्रकाश को उपयोग किया जाना अतिआवश्यक है. तीन प्रकार के प्रकाश स्रोतों का सही इस्तेमाल किया जाना चाहिए:

  • जनरल
  • लोकल
  • कंबाइंड
इलेक्ट्रिक बचत प्रकाश बल्ब -   पैसे की बचत
इलेक्ट्रिक बचत प्रकाश बल्ब का उपयोग पैसे बचाता है

इसका क्या अर्थ है? जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके प्राकृतिक प्रकाश का उपयोग करना ही आवश्यक है. ऐसा करने के लिए, घर में दीवारों एवं पर्दों का रंग उज्ज्वल एवं चमकदार हो. कमरे की खिड़की पर किसी भी तरह के फूल, गुलदस्ते आदि न रखें. इस तरह, आप लंबे समय तक के लिए प्रकाश बल्ब के उपयोग से बच सकते हैं, और प्राकृतिक प्रकाश का उपयोग कर सकते हैं.

आपको झूमर में न केवल कई रंगों वाले बल्ब का प्रयोग करना चाहिए बल्कि जोनल का भी उपयोग करना चाहिए. ऐसा करने के लिए, आपको झूमर के अलावा स्कोनस और लैंप को भी कमरे में लगाना चाहिए. क्योंकि आप झूमर के प्रकाश से पूरी बैठक में प्रकाश क्यों करना चाहेंगे अगर वहाँ केवल एक ही व्यक्ति किसी कोने में बैठ के कार्य कर रहा है? उस व्यक्ति के लिए एक बल्ब का प्रकाश ही पर्याप्त होगा. अगर आप किसी १८-२० वर्ग मीटर को प्रकाशित करने के लिए कंबाइंड प्रकाश का उपयोग करते हैं तो, इस तरह से आप २०० वाट तक बिजली की बचत कर सकते हैं. इसके साथ ही में एक और विकल्प का प्रयोग करना चाहिए: झूमरों और प्लेफाउंड को समय-समय पर धोते रहना भी अतिआवश्यक है.

इलेक्ट्रिक हीटर

बिजली बचाने के लिए तरीके
उपकरण बंद करने के लिए जब आप घर छोड़ कर मत भूलना

यह बात किसी से भी छिपी नहीं है कि ठंड के मौसम में कई अपार्टमेंट बहुत ठंडे रहते हैं. विशेष रूप से मौसम ऊपरी मंजिलों को प्रभावित करता है, जहां हीटिंग सिस्टम द्वारा प्रदान किया गया गर्म पानी गुनगुना रह जाता है. इसलिए, कई लोग केंद्रीकृत हीटिंग की जगह बिजली के हीटर का उपयोग करते हैं. और अगर आप इस बात को ध्यान में रखें कि शहरों में सर्दी की मार से लोग इतने परेशान रहते हैं कि हर जगह केवल और केवल गर्म पानी ही उपयोग करते हैं और बिल्डिंग को गर्म करने के लिए वार्मर का उपयोग करते हैं, तो क्या ऐसे में बिजली की बचत कर पाना संभव है?

बेशक आप कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए यह आवश्यक है कि आप अपने फ्लैट को अधिक से अधिक गर्म रखने का प्रयास करें. आजकल, कई लोग घरों में लकड़ी की खिड़कियों का प्रयोग करते हैं, जिनसे गर्मी निकल सकती है और केवल फ्लैट को गर्म करने के बजाय यह बाहरी हिस्से को भी गर्म करने लगती है ऐसे में ऊष्मा को बाहर निकालने से रोकने के लिए यदि आप लकड़ी की खिड़कियों को हटाकर उन्हें मेटल प्लास्टिक के साथ बदलते हैं तो आपकी बहुत बचत हो सकती है.

बेशक, खिडकियों को बदलवाने में भी लागत लगेगी पर उनकी मदद से आप अपने फ्लैट की गर्मी का २०% तक बचा पायेंगे. और इसका मतलब है कि अगर आपके अपार्टमेंट में पहले से ही गर्मी होगी तो आपको बहुत शक्तिशाली वार्मर का उपयोग नहीं करना पड़ेगा. या कम से कम उसे बार-बार नहीं चलाना पड़ेगा. साथ ही केवल खिड़कियों को बदलने की बजाय, यदि बालकनी या बरामदे को भी इस तरह से ढक दिया जाए कि वहां से गर्मी बाहर न निकल पाए तो यह और भी अच्छा होगा.

अपार्टमेंट में समय-समय पर हवा को परिवर्तित करवाते रहना चाहिए. इस प्रयोजन के लिए, सर्दियों के समय में भी, २-५ मिनट के लिए खिड़की खोलना पर्याप्त होगा. इस समय, ताजी हवा के आने साथ गर्मी भी बाहर चली जाती है इसलिए वेंटिलेशन के समय व्यर्थ में बिजली वार्मर को नहीं चलाना चाहिए और इसे बंद कर देना चाहिए.

अपार्टमेंट में तारों का जंजाल

कितने भारतीयों को यह पता है कि कमरे में प्रयुक्त सबसे साधारण तारों पर भी बिजली के खर्चे को कम किया जाना संभव है? यह सच है. अपार्टमेंट में तारों की अखंडता की जाँच करें और अतिरिक्त टीज़ और सॉकेट एडाप्टर को हटायें.

तथ्य यह है कि विभिन्न टीज़ और एक्सटेंशन कार्ड नेटवर्क के रेजिस्टेंस को बढ़ा देते हैं, जो बिजली के नुकसान में बढ़ोत्तरी कर देता है.

बिजली की बचत करने में सहायक

Leave A Reply

Your email address will not be published.